तालिबानी आतंकियों ने की 22 निहत्थे सैनिको की हत्या

न्यूज़ टैंक्स | लखनऊ

 

अफगानिस्तान से अमेरिकी सेना की वापसी के बाद से ही तालिबान ने बड़े हिस्से पर कब्जा कर लिया है। तालिबानी कट्टरपंथियों को पाकिस्तानी आतंकियों का भी साथ मिल रहा है। खबरों की माने तो इसी हिंसा के बीच एक दिल को दहला देने वाला वीडियो सामने आया है। जिसमें दिखाया है कि तालिबानी आतंकियों को अल्लाह हू अकबर कहते हुए 22 निहत्थे अफगानिस्तानी कमांडोज को गोलियों से छलनी कर दिया। हालांकि, हरिभूमि इस वीडियो की पुष्टि नहीं करता है। हावड़ा से मिली जानकारी के अनुसार अफगानी सैनिकों की हत्या 16 जून को फरयाब प्रांत के दवलात अबाद में की गई। यह इलाका अफगानिस्तान और तुर्कमेनिस्तान के बॉर्डर के समीप है।

एक अंग्रेजी अखबार के अनुसार, अफगानिस्तान स्पेशल फोर्स के ये सभी सैनिक शांतिपूर्वक सरेंडर के लिए आगे बढ़ रहे थे। इसी दौरान तालिबानी कट्टरपंथियों ने ‘अल्लाहू अकबर’ कहते हुए फायरिंग शुरू कर दी। जिसमें 22 सैनिकों की दर्दनाक मौत हो गई।

बताया जा रहा है कि दवलात अबाद पर कब्जे के लिए हुई भीषण हिंसा हुई। इसी बीच अफगान कमांडोज के पास गोला-बारूद और गोलियां खत्म हो गई। जिस कारण वह मजबूर हो गए और तालिबानी आतंकियों से चारों ओर से गिर गए। इसके बाद तालिबानी आतंकियों ने सैनिकों को आत्मसमर्पण के लिए कहा। जिसके लिए वे तैयार हो गए। जैसे ही सैनिकों ने अपने हथियारों को नीचे डाला, ठीक उसी वक्त आतंकियों ने सैनिकों की गोली मारकर हत्या कर दी।

रेड क्रॉस ने 22 कमांडोज के शव बरामद होने की पुष्टि की है। वहीं, सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो को तालिबान ने फर्जी बताया है। तालिबान प्रवक्ता ने बताया है कि उनके कब्जे में अफगानिस्तान के 24 सैनिक हैं। लेकिन इसकी पुष्टि के लिए कोई सबूत नहीं दिया गया है। वहीं अफगानिस्तान के रक्षा मंत्रालय ने पुष्टि की है कि तालिबान ने सैनिकों को मार दिया।