IPL 2020 : आज से खुलेगा मिड ट्रांसफर विंडो, जाने क्या है नियम

न्यूज़ टैंक्स | लखनऊ

आईपीएल 2020 का आधा सीजन खत्म हो चुका है, ग्रुप मैचों में सभी आईपीएल टीमों को 14 मैच खेलने होते हैं और अब सभी टीमों ने अपने 7-7 मैच खेल लिए हैं। आईपीएल 2020 के हाफ टूर्नामेंट के साथ ही आईपीएल सीजन ट्रांसफर विंडो की भी शुरुआत हो गई है।

आईपीएल 2020 सीजन ट्रांसफर विंडो की शुरुआत मंगलवार से शुरू और 5 दिनों तक चलेगी, इसमें किसी टीम के लिए खेल रहा प्लेयर्स आईपीएल 2020 में ही अन्य टीम के लिए खेल सकता है। हालांकि उसके लिए कुछ नियम है, चलिए समझते हैं कि आईपीएल 2020 सीजन ट्रांसफर विंडो आखिर है क्या और इसमें कौन कौन से बड़े प्लेयर हैं जो टीमों की अदला बदली कर सकते हैं।

आईपीएल ट्रांसफर विंडो 2020

आईपीएल 2020 में सभी टीमें 7 मैच पूरे कर चुकी है, और जो प्लेयर्स 2 से अधिक मैच अपनी टीम के लिए नहीं खेलें हैं वो प्लेयर्स ट्रांसफर विंडो 2020 के लिए योग्य रहेंगे। आईपीएल 2020 में किंग्स इलेवन पंजाब के क्रिस गेल, दिल्ली कैपिटल्स टीम के अजिंक्य रहाणे, सनराइजर्स हैदराबाद के जेसन होल्डर और राजस्थान रॉयल्स के डेविड मिलर विंडो ट्रांसफर के योग्य हैं।

दिल्ली कैपिटल्स 9, चेन्नई सुपर किंग्स और केकेआर के 10, राजस्थान रॉयल्स और आरसीबी के 11-11, सनराइजर्स हैदराबाद मुंबई इंडियंस और किंग्स इलेवन पंजाब के 13-13 प्लेयर्स मिड सीजन ट्रांसफर विंडो के लिए अवेलेबल हैं, जो पांच दिन तक रहेगा।

बड़े प्लेयर्स का मिड ट्रांसफर मुश्किल

आईपीएल 2020 में मिड सीजन ट्रांसफर विंडो खुला तो है, लेकिन इसके लिए प्लेयर्स की रजामंदी के साथ दोनों टीमों की सहमति भी होना बहुत जरुरी है। क्रिस गेल अजिंक्य रहाणे बेशक इसके योग्य हैं, लेकिन उनकी टीमें इसके लिए सहमत नहीं होगी। दिल्ली कैपिटल्स की बात करें तो उसके कई प्लेयर्स चोटिल होकर पहले ही बाहर हो चुके हैं, वहीं पिछले मैच में रिषभ पंत की जगह टीम में अजिंक्य रहाणे को मौका दिया गया था।

रिषभ पंत अगले 1 हफ्ते तक नहीं खेल सकेंगे, ऐसे में मुश्किल है कि अजिंक्य रहाणे का ट्रांसफर होगा। वहीं क्रिस गेल को भी पंजाब टीम नहीं छोड़ेगी, क्योंकि उनके स्टार प्लेयर ग्लेंन मैक्सवेल का फॉर्म नहीं चल रहा है ऐसे में टीम जल्द क्रिस गेल को प्लेइंग 11 में लाने वाली है।