मिशन शक्तिः पोषण पंचायत में हुई महिलाओं की गोद भराई

एनटी न्यूज / मथुरा

● मिशन शक्तिः पोषण पंचायत में हुई महिलाओं की गोद भराई

● जनपद में आंगनबाडियों को किए जा रहे 2086 स्मार्ट फोन वितरित

● महिलायें आत्मसम्मान के लिए रोजगार या जॉब करेंः सीडीओ

मथुरा। उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग की सदस्य रामसखी कठेरिया की अध्यक्षता में बीएसए इंजीनियर कॉलेज के सभागार में मिशन शक्ति के अन्तर्गत पोषण पंचायत कार्यक्रम का आयोजन किया गया। पोषण अभियान के अन्तर्गत चार महिलाओं की गोद भराई की और अन्नप्राशन के अन्तर्गत चार बच्चों को लाभान्वित किया। इसी क्रम में सैम बच्चों की श्रेणी से बाहर आये बच्चे कृष्णा और देव तथा मैम बच्चों की श्रेणी से बाहर होकर स्वस्थ्य होने वाले बच्चे निकिंता और नक्क्ष को खीर खिलाई।

फोटो परिचय – मिशन शक्ति के पोषण पंचायत कार्यक्रम में महिलाओं की गोद भराई।

कार्यक्रम में पोषण पंचायत में कुपोषित महिलाओं, बच्चों के लिये पुष्टाहार विभाग द्वारा चलाई जा रही कल्याणकारी योजना एवं पोषण अभियान के अन्तर्गत चलायी जा रही योजनाओं की विस्तृत जानकारी एवं लाभ दिलाया गया। सैम एवं मैम श्रेणी में रह चुके बच्चों के अभिभावक उपस्थित हुए। पोषण वाटिका, पौधा रोपण एवं कुपोषण के लिये योग एवं आयुष के महत्व से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी दी। स्थानीय खाद्य पदार्थों एवं पोष्टिक भोजन की जनजागरूकता तथा आवश्यकतानुसार अनुपूरक पुष्टाहार आदि का वितरण भी किया गया।

फोटो परिचय – मिशन शक्ति के पोषण पंचायत कार्यक्रम को संबोधित करते सीडीओ डॉ. नितिन गौड।

● सदस्य ने बताया कि आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को स्मार्ट फोन वितरण किये गये हैं, जिससे वह आधुनिक तकनीकांे से तथा सरकारी की जनकल्याणकारी योजनाओं से आमजन मानस को लाभ दिलाएंगे और उन्हें जागरूक करेंगे। जिला कार्यक्रम अधिकारी डॉ. अभिनव मिश्रा ने कार्यक्रम का संचालन करते हुए बताया कि जनपद मथुरा में 2086 स्मार्ट फोनों का वितरण किया जा रहा है तथा पोषण वाटिका की 421 ईकाइयों से लोगों को लाभान्वित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि सीडीपीओ एवं एनजीओ के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जा रहा है तथा संभव अभियान और ड्राई राशन पात्र महिलाओं को दिया जा रहा है। इस बार मिशन शक्ति के अन्तर्गत योगा को जोड़ा गया है, जिससे महिलायें स्वस्थ्य रहेंगी।

● कार्यक्रम में महिलाओं को सम्बोधित करते हुए मुख्य विकास अधिकारी डॉ. नितिन गौड़ ने कहा कि अपने हेल्थ एवं न्यूटेशन का विशेष ध्यान रखें, क्योंकि गर्भावस्था से ही बच्चों का विकास होने लगता है। उन्होंने कहा कि मिशन शक्ति के अन्तर्गत महिलाओं का सशक्तिकरण तभी होगा, जब आर्थिक रूप से सम्पन्न हो जायेंगी। उन्होंने महिलाओं से कहा कि आत्मसम्मान के लिए कोई न कोई रोजगार या जॉब करें तथा जागरूक एवं सावधान रहें। इसके साथ ही शासन द्वारा आंगनबाड़़ी कार्यकत्रियों को मोबाइल फोन्स दिये गये हैं, जिससे डिजीटल होकर सोशल मीडिया से जुडें और विभिन्न प्रकार की जानकारियां प्राप्त करते रहें।

● इस अवसर पर जिला पंचायतीराज अधिकारी किरन चौधरी, डीएसटीओ अजया चौधरी, जिला प्रोबेशन अधिकारी अनुराग श्याम रस्तोगी, एसीएमओ डॉ. दिलीप कुमार, एसीएमओ डॉ0 आलोक कुमार, बीएसए, डॉ. चारू जैन सहित आंगनबाड़ी कार्यकत्री महिलाऐं उपस्थित थी।