प्रयागराज में कोरोना के टीकाकरण के लिए डेटाबेस की तैयारी शुरू

प्रयागराज : कोविड-19 की वैक्सीन का ट्रायल चल रहा है। उम्मीद जताई जा रही है की कुछ समय बाद वैक्सीन आ जाएगी जिसको सबसे पहले स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़े कर्मियों को दिया जायेगा। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से सरकारी व निजी क्षेत्र की सभी पैथी की स्वास्थ्य एवं सम्बंधित इकाइयों जैसे मेडिकल कॉलेज, चिकित्सालय, नर्सिंग एवं पैरामेडिकल व रिसर्च इंस्टिट्यूट, सरकारी व गैर सरकारी लैब, निजी क्लीनिक, नर्सिंग होम और छोटे-बड़े अस्पतालों में कार्यरत सभी कर्मियों को सूचीबद्ध किया जा रहा है।

स्वास्थ्य संस्थानों से जानकारी

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. मेजर जी.एस. बाजपेई ने बताया कि स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़े सभी सरकारी व निजी संस्थानों में कार्यरत सभी कर्मचारियों की जानकारी एकत्र की जा रही है। इसमें सभी सरकारी चिकित्सालय, प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, जिला चिकित्सालय, शहरी एवं ग्रामीण स्वास्थ्य केन्द्रों के चिकित्साधिकारी, स्टाफ नर्स व फ्रंट लाइन के कार्यकर्ताओं आदि की जानकारी स्वास्थ्य विभाग के पास आ चुकी है। इस सन्दर्भ में अपर मुख्य सचिव , चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण के पत्र के आधार पर जनपद की सभी मेडिकल एसोशिएशन्स के अध्यक्ष को पत्र लिखा गया है और जानकारी मांगी गई है।पूरे जनपद में क्रियाशील रजिस्टर्ड स्वास्थ्य सेवा संस्थानों से भी जानकारी ली जा रही है।

समन्वय का कार्य

जिलाधिकारी व मुख्य चिकित्साधिकारी की देखरेख में इस पूरी प्रक्रिया को किया जा रहा है। प्रक्रिया को बेहतर ढंग से पूरा करने के लिए एक समिति का गठन भी किया गया है जिसमें उप मुख्य चिकित्साधिकारी, चिकित्साधिकारी व प्रबंधकों को रखा गया है और दायित्व दिए गए हैं। इसके अलावा ए.सी.एम.ओ., प्रतिरक्षण व जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सुचना अधिकारी पूरी तरह से समन्वय का कार्य करेंगे।

जल्द पूरा डाटा 

ए.सी.एम.ओ. व जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. अमित श्रीवास्तव ने बताया कि लगभग सभी सरकारी संस्थाओं का डाटा उपलब्ध हो चुका है और 1235 निजी संस्थानों को भी ई-मेल के जरिये प्रपत्र के माध्यम से उनके कर्मचारियों का डाटा माँगा गया है जिसमें से 105 संस्थानों से डाटा साझा कर लिया गया है। शेष संस्थानों से ई-मेल और फ़ोन के माध्यम से समन्वय स्थापित किया जा रहा है ताकि जल्द से जल्द पूरा डाटा प्राप्त किया जा सके।