कंगना रनौत का ट्विटर अकाउंट सस्पेंड, बंगाल हिंसा के खिलाफ लगातार कर रही थीं ट्वीट्स

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत का ट्विटर अकाउंट सस्पेंड कर दिया गया है. ट्विटर ने बताया है कि उन्होंने इस प्लेटफॉर्म के नियमों का उल्लंघन किया है. बता दें कि पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव का परिणाम आने के बाद इस अभिनेत्री ने कुछ विवादित ट्वीट्स किए थे. कंगना ने ममता बनर्जी के लिए आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल भी किया था.
विवादित ट्वीट के बाद कंगान ऊपर केस भी दर्ज हुआ है. कोलकाता पुलिस ने कंगना रनौत के खिलाफ पश्चिम बंगाल के लोगों की भावनाएं आहत करने के आरोप में शिकायत दर्ज की है. एडवोकेट सुमीत चौधरी ने ईमेल के जरिए कोलकाता पुलिस कमिश्नर सौमेन मित्रा को शिकायत भेजी थी. अपने मेल में उन्होंने कंगना रनौत के ट्वीट के तीन लिंक्स भी भेजे हैं. इसमें आरोप लगाया गया है कि उन्होंने बंगाल के लोगों की भावनाओं को आहत और उन्हें अपमानित भी किया है.
कंगना ने क्या लिखा था-
पश्चिम बंगाल के चुनाव के बाद कंगना रनौत ने अपने एक ट्वीट में लिखा था, ‘पश्चिम बंगाल में बांग्लादेशी और रोहिंग्या बड़ी संख्या में हैं. इससे साफ नजर आता है कि हिंदू वहीं बहुमत में नहीं हैं, और डेटा के अनुसार, बंगाली मुस्लिम बेहद गरीब और वंचित हैं. अच्छा है दूसरा कश्मीर बनने जा रहा है.’
इसके अलावा कंगना ने एक ट्वीट में बंगाल हिंसा से संबंधित हैशटैग लगाया था. एक्ट्रेस ने बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को ‘खून की प्यासी राक्षसी ताड़का बताया था. इसके अलावा कंगना ने पीएम मोदी को ये भी सलाह दी है कि वो सुपर गुंडई करें. साथ ही एक्ट्रेस ने लिखा कि नरेंद्र मोदी को अपना 2000 वाला विराट रुप भी दिखाना चाहिए.
चुनाव परिणाम के बाद हुई हिंसा के बाद कंगना ने पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की है. अभिनेत्री ने राज्य में हुई हिंसा को लेकर एक वीडियो भी पोस्ट किया है जिसमें वो रोती हुई नज़र आ रही हैं.
आपको बता दें कि ये दूसरी बार है जब कंगना रनौत का अकाउंट सस्पेंड हुआ है. इससे पहले जब ट्विटर सस्पेंड हुआ तो कंगना ने देसी ट्विटर लाने की गुहार सरकार से लगाई थी. काफी भला बुरा कहने के बाद कंगना ने दोबारा ट्विटर ज्वाइन कर लिया था.